February 26, 2024 11:26 pm

February 26, 2024 11:26 pm

मऊ:कर करेत्तर राजस्व वसूली एवं राजस्व कार्याे की मासिक समीक्षा बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संपन्न

वसूली कार्यों सहित अन्य योजनाओं में खराब प्रगति पर तहसीलदार सदर को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के दिए निर्देश।

आज जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में कर करेत्तर एवं राजस्व वसूली की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। जिलाधिकारी द्वारा निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष कर प्राप्तियो पर विभागवार समीक्षा की गई। इस दौरान आबकारी, विद्युत, परिवहन, खनन आदि में लक्ष्य के सापेक्ष कम प्राप्तियो पर जिलाधिकारी ने इसमें तेजी लाने के निर्देश दिए। जनपद स्तर पर 10 बड़े बकायेदारों से वसूली की चर्चा के दौरान जिलाधिकारी ने इनके खिलाफ अभियान चलाकर वसूली कार्यों में तेजी लाने को कहा। उन्होंने इनके चल एवं अचल संपत्तियों को यथाशीघ्र कुर्क एवं नीलामी की प्रक्रिया अपनाकर वसूली कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियो को निर्देश दिये कि निर्धारित कार्यों को समय से गुणवत्तापूर्ण ढंग पूर्ण करें अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। समीक्षा बैठक के दौरान सदर तहसील में राजस्व वसूली सहित अन्य कार्यों में धीमी प्रगति पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुऐ जिलाधिकारी ने तहसीलदार सदर से स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होने जन समस्याओं के निराकरण हेतु सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का समाधान समय सीमा के अन्तर्गत नही होने पर शिकायतो का निस्तारण समयान्तर्गत गुणवत्तापूर्ण ढंग से करने के भी निर्देश दिये। आडिट आपत्तियो की समीक्षा के दौरान आपदा, भूलेख, बन्दोवस्त अधिकारी चकबन्दी आदि के यहॉ ज्यादा आपत्तियॉ लम्बित पायी गयी। जिलाधिकारी द्वारा ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक तहसील से तीन-तीन ऐसे लेखपालो की सूची उपलब्ध कराये, जिनके यहॉ हैसियत प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र एवं आय प्रमाण पत्र के निस्तारण हेतु सबसे ज्यादा प्रकरण लम्बित है। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना, कृषि भूमि के पट्टो से अवैध कब्जेदारो को हटाकर वास्तवित पट्टेदारों को दिलाने, ग्राम सभा कृषि भूमि के पट्टेदारो की पट्टा भूमि पर अवैध कब्जा करने वालो के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही आदि पर विस्तृत समीक्षा की गयी। उन्होने आई0जी0आर0एस0 पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में निस्तारण आख्या को गुणवत्तापूर्ण ढंग से लगाने एवं इस संबंध में शिकायतकर्ता से बात करने को कहा एवं शिकायतकर्ता के संतुष्टि के उपरांत ही जांच आख्या लगाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना के तहत दुर्घटना के उपरांत किसानों को मिलने वाले मुआवजे का भुगतान यथाशीघ्र कराने के भी निर्देश जिलाधिकारी ने दिए। इस दौरान उन्होंने ने अवैध अतिक्रमण एवं नए भू माफियाओं का चिन्हीकरण कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को भी कहा।
बैठक के दौरान मुख्य राजस्व अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट, समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त तहसीलदार सहित अन्य सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?