February 26, 2024 11:41 pm

February 26, 2024 11:41 pm

जिलाधिकारी ने विकासखंड रानीपुर के कंपोजिट विद्यालय ब्राम्हणपुरा का किया निरीक्षण।

अनुपस्थित प्रधानाध्यापक को निलंबित करने के दिए निर्देश।

विद्यालय में कम नामांकन, मीन्यू के हिसाब से भोजन न बनने एवं पुस्तक वितरण में लापरवाही पर बी.ई.ओ से मांगा स्पष्टीकरण।

आज जिला अधिकारी श्री अरुण कुमार ने कंपोजिट विद्यालय ब्राह्मणपुरा का निरीक्षण किया, जहां पर कक्षा 1 से लेकर 8 तक मात्र 42 बच्चे पंजीकृत है, जिनमें से 18 बच्चे उपस्थित पाए गए। निरीक्षण के दौरान बच्चों को अभी तक किताबे उपलब्ध ना होने पर उन्होंने संबंधित अध्यापकों को कड़ी फटकार लगाते हुए इसे तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इसके अलावा बच्चों के पास यूनिफॉर्म जूते, बैग एवम् स्वेटर भी नहीं होने पर उन्होंने इसके लिए अभिभावकों से संपर्क कर बच्चों को उपलब्ध कराने को कहा। कक्षाओं के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थित बच्चों से भी संवाद किया एवं उनके सीखने के स्तर को जाना।अध्यापक उपस्थिति रजिस्टर के निरीक्षण के दौरान प्रधानाध्यापक के अनुपस्थित पाए जाने पर जिलाधिकारी ने प्रधानाध्यापक को निलंबित करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान कंपोजिट विद्यालय में कायाकल्प के तहत अभी तक कोई कार्य नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने डी.पी.आर.ओ. को इस संबंध में तत्काल आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने विद्यालय परिसर स्थित रसोईघर का भी निरीक्षण किया,जहां पर मीन्यू के हिसाब से भोजन नहीं बना था। साथ ही भोजन निर्माण सामग्री भी गुणवत्तापूर्ण नहीं थी। जिलाधिकारी ने मीन्यू के हिसाब से भोजन ना बनने,अध्यापकों के सापेक्ष बच्चों के कम नामांकन एवं पुस्तक वितरण में लापरवाही पर खंड शिक्षा अधिकारी को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। विद्यालय परिसर के अंदर ही निर्माणाधीन दिव्यांग शौचालय को जिलाधिकारी ने तत्काल पूर्ण कराने के भी निर्देश दिए।


इस विद्यालय पर दो बूथ भी हैं, जहां पर बी.एल.ओ. तैनात हैं एवं विधानसभा निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत आवेदनों को प्राप्त कर रहे हैं। जिलाधिकारी ने संबंधित बूथों के बी.एल.ओ. से अब तक प्राप्त फार्म 6,7 एवं 8 के बारे में जानकारी लेते हुए शेष दिनों में विशेष प्रयास कर अधिक से अधिक नए मतदाताओं, विशेषकर युवा एवं महिला मतदाताओं को निर्वाचक नामावली में नाम जुड़वाने के निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान तहसीलदार मोहम्मदाबाद गोहना भी उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?