February 26, 2024 11:42 pm

February 26, 2024 11:42 pm

जागरुकता ही एड्स का सबसे बेहतर उपचारः डॉ संजय सिंह

विश्व एड्स डे पर एसएनएच में हुई संगोष्ठी, चिकित्सकों से साझा किए विचार
मऊः वैश्विक स्तर पर एड्स महामारी का रुप ले चुका है। अभी तक इस रोग की कोई वैक्सिन का निर्माण नहीं हुआ है। इस रोग को लेकर समाज में भी व्यापक भ्रांति फैली हुई है। एड्स रोगियों के साथ समाज में दोयम व्यवहार किया जाता है। इससे पीड़ित रोगी के साथ बैठने, उसे छूने, उसके साथ खाना खाने आदि से एड्स नहीं होता है। सुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने के ही अन्य तरह से होने वाले एड्स के प्रति जानकारी और जागरुकता ही सबसे बड़ा उपचार है। प्रसिद्व चिकित्सक डॉ संजय सिंह ने यह उदगार व्यक्त किया। वह विश्व एड्स दिवस पर शारदा नारायण हास्पिटल में शुक्रवार को आयोजित जागरुकता संगोष्ठी में वह बोल रहे थे।


डॉ सिंह ने एड्स रोगी के उपचार के दौरान चिकित्सकीय स्टाफ को सावधानी व बचाव के विषय में सुझाव दिया। ओर्थोपेडिक सर्जन डॉ राहुल ने हड्डी रोग से प्रभावित एड्स रोगी की सुरक्षा के संदर्भ में विस्तार से प्रकाश डाला। कोर्डियोलाजिस्ट डॉ दीपक राय ने एड्स रोगियों को हृदय रोग से संबंधित बचाव एवं उपचार पर प्रकाश डाला। बाल रोग विशेषज्ञ डा रेहान ने बच्चों में होने वाले एड्स के कारण व निदान पर सुझाव व्यक्त किया।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?