February 26, 2024 10:31 pm

February 26, 2024 10:31 pm

बोर्ड परीक्षा- 2023 को सकुशल संपन्न कराने हेतु जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न।

लापरवाही पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ की जाएगी कठोरतम कार्यवाही- जिलाधिकारी।

कुल 138 परीक्षा केंद्रों पर 92181 परीक्षार्थी परीक्षा में होंगे सम्मिलित।

आज जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में माध्यमिक शिक्षा परिषद,प्रयागराज द्वारा आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षा- 2023 को नकल विहीन एवं सकुशल संपन्न कराने के संबंध में समस्त केंद्र व्यवस्थापको, जोनल, सेक्टर एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेटों के साथ बैठक संपन्न हुई।
बैठक के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक देवेंद्र गुप्ता ने बताया कि बोर्ड परीक्षा-2023, 16 फरवरी से प्रारंभ होकर 4 मार्च 2023 तक चलेगी। इस बार जनपद में कुल 138 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जिन पर कुल 92181 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे।इन परीक्षार्थियों में हाई स्कूल के 47 हजार 770 एवं इंटरमीडिएट के कुल 44 हजार411 परीक्षार्थी है।उन्होंने बताया कि जनपद स्तर पर कंट्रोल रूम की स्थापना की जा चुकी है। जनपद के समस्त 138 परीक्षा केंद्रों की लाइव कनेक्टिविटी को जनपद एवं राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम से कनेक्ट करा दिया जाएगा। इन सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी तथा डीवीआर क्रियाशील है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि शासन के निर्देश के अनुसार इस बार प्रश्नपत्र सुरक्षित रखने हेतु अलग से स्ट्रांग रूम बनाया गया है, जहां पर प्रश्न पत्रों की सुरक्षा हेतु पुलिस बल भी तैनात किया जा चुका है। जनपद में 4 सचल दल क्रमशःजिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य डायट एवम् सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी के अध्यक्षता में गठित किया गया है, जो परीक्षा के दौरान लगातार भ्रमणशील रहेंगे। इसके अलावा समस्त परीक्षा केंद्रों हेतु स्टैटिक मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं जोनल मजिस्ट्रेट की नियुक्ति की जा चुकी है।इस बार जनपद मुख्यालय पर सोनीधापा खंडेलवाल बालिका इंटर कॉलेज, मऊ को संकलन केंद्र बनाया गया है, जहां पर उत्तर पुस्तिकाओं का संकलन किया जाएगा। यहां पर भी 24 घंटे सुरक्षा बल तथा सीसीटीवी कैमरे क्रियाशील रहेंगे।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार ने बोर्ड परीक्षा- 2023 को नकल विहीन एवं सकुशल संपन्न कराने हेतु समस्त परीक्षा केंद्रों पर वाह्य केंद्र व्यवस्थापको की नियुक्ति सिर्फ राजकीय एवं शासकीय विद्यालयों के अध्यापकों की उनकी निष्ठा सत्यापन के उपरांत ही करने के निर्देश दिए। किसी निष्ठाहीन व्यक्ति की नियुक्ति का मामला प्रकाश में आने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी। उन्होंने संकलन केंद्र पर सीसीटीवी कैमरों की सक्रियता की जांच करने के साथ ही कैमरो के एंगिल के जांच के भी निर्देश दिए जिससे पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहे।
जिलाधिकारी ने उपस्थित केंद्र व्यवस्थापको, जोनल, सेक्टर एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेटों को संबोधित करते हुए कहा कि बोर्ड परीक्षा की संवेदनशीलता को देखते हुए बोर्ड परीक्षा से जुड़े सभी लोग शासन द्वारा दिए गए निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें। भूलवश भी कोई गलती ना करें, ना ही किसी के प्रलोभन में पड़े।कहीं से भी अगर किसी भी प्रकार की लापरवाही पाई गई तो संबंधित के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की शिकायत संज्ञान में आने पर तत्काल उच्च अधिकारियों को सूचित करना सुनिश्चित करें, जिससे संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। जिलाधिकारी ने स्ट्रांग रूम की समस्त कार्यवाहियो का लिखित रिकॉर्ड भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए, जिससे प्रश्न पत्रों की गोपनीयता भंग होने पर संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। उन्होंने अपर पुलिस अधीक्षक को हर परीक्षा केंद्रों पर पुलिस बल के साथ ही स्ट्रांग रूम एवम् सचल दस्ते के साथ भी आवश्यक पुलिस बल उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।
बैठक के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक, अपर जिलाधिकारी श्री भानु प्रताप सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक देवेंद्र कुमार गुप्ता, समस्त उप जिला अधिकारी सहित समस्त केंद्र व्यवस्थापक,सेक्टर एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेट उपस्थित रहे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?