February 27, 2024 12:09 am

February 27, 2024 12:09 am

जिलाधिकारी के अध्यक्षता में पीएम किसान सम्मान निधि, वरासत अभियान, स्वामित्व योजना,कायाकल्प योजना,सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा बैठक संपन्न।

तीन साल से ज्यादा पुरानी जारी आर.सी. की वसूली में तेजी लाने के दिए निर्देश।

आज जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में पीएम किसान सम्मान निधि, वरासत अभियान, स्वामित्व योजना, शहरी क्षेत्र में कायाकल्प की स्थिति, कोर्ट केस/अवमानना वाद तथा राजस्व वसूली के संबंध में समीक्षा बैठक संपन्न हुई।
पीएम किसान सम्मान निधि की समीक्षा के दौरान उपनिदेशक कृषि ने बताया की पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत ओपन सोर्स डाटा के तहत 64 हजार 648 किसानों का सत्यापन किया जाना था, जिनमें सिर्फ 26 हजार 52 किसानों का सत्यापन शेष रह गया है। इनके सत्यापन का कार्य कराया जा रहा है जिलाधिकारी ने ओपन सोर्स डाटा के सत्यापन के दौरान प्राप्त डाटा को 2 दिनों के अंदर फीड कराने के निर्देश दिए। साथ ही अवशेष किसानों का भी यथाशीघ्र सत्यापन करने को कहा। वरासत अभियान की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने वरासत से संबंधित सभी मामलों को निर्धारित समय सीमा के अंदर ही निस्तारण के निर्देश दिए। मोटर दुर्घटना क्लेम एवं पारिवारिक न्यायालय सहित अन्य न्यायालयों द्वारा जारी आरसी की वसूली में भी तेजी लाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिए गए। जिलाधिकारी ने तहसील स्तर पर अमीन वार जारी आरसी की सूची की जानकारी लेते हुए 3 साल से ज्यादा की लंबित आरसी की वसूली अभियान चलाकर करने के निर्देश समस्त उप जिलाधिकारियों को दिए। नगरीय क्षेत्रों में स्थित परिषदीय विद्यालयों के कायाकल्प योजना के अंतर्गत कराए जाने वाले कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद ने बताया कि शहरी क्षेत्र सहित समस्त नगर पंचायतों ने उनके क्षेत्र में स्थित स्कूलों में कायाकल्प के तहत कराए जाने वाले कार्यों का प्रस्ताव तैयार कर लिया है। शीघ्र ही इस पर कार्यवाही प्रारंभ की जाएगी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कोर्ट केस/अवमानना वाद,19 कालम की खतौनी तैयार करने की प्रगति की भी समीक्षा की।
इस दौरान अपर जिलाधिकारी श्री भानु प्रताप सिंह, नगर मजिस्ट्रेट श्री नीतीश कुमार सिंह, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद दिनेश कुमार, खंड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र सहित समस्त उप जिला अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?