February 27, 2024 12:08 am

February 27, 2024 12:08 am

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न।

नीली बत्ती एवं हूटर लगे प्राइवेट वाहनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के दिए निर्देश।

आज जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान ए.आर.टी.ओ.कहकसा खातून ने बताया कि गत माह हेलमेट में 511, सीट बेल्ट में 169 लोगों का चालान होने के अलावा 117 ड्राइविंग लाइसेंस का निलंबन भी किया गया। उन्होंने बताया कि पंजीकृत 588 स्कूली वाहनों मे से 122 स्कूली वाहन फिटनेस में फेल पाए गए, जिन्हें नोटिस प्रेषित करने के साथ ही रजिस्ट्रेशन निलंबन की कार्यवाही की जा रही है। इसके अलावा 35 स्कूली वाहनों का चालान भी किया गया है। ओवरलोड में 61 वाहनों को का चालान किया गया तथा 33 वाहनों को निरुद्ध किया गया।हूटर एवं प्रेशर हॉर्न वाले 18 वाहनों का भी चालान माह नवंबर में किया गया। ई-रिक्शा के खिलाफ चलाए गए अभियान में पिछले माह कुल 22 ई रिक्शा का चालान किया गया।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी प्रकार के चालानो की संख्या बहुत ही कम होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए टीमों की सक्रियता बढ़ाने के साथ ही चालानो की संख्या भी बढ़ाने के निर्देश ए.आर.टी.ओ. को दिए। उन्होंने जनपद के सभी प्रवेश करने एवं बाहर आने जाने वाले केंद्रों पर कर्मचारियों की तैनाती कर 1 माह तक लगातार सर्वे करने के निर्देश दिए, जिससे अन्य प्रदेशों के पंजीकृत वाहनों के साथ ही साथ प्रतिदिन जनपद में आने वाले वाहनों की संख्या पर नजर रखी जा सके। साथ ही बिना परमिट के घूमने वाले वाहनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा सके। उन्होंने नगर मजिस्ट्रेट को फिटनेस फेल गाड़ियों की सूची तथा उनके खिलाफ अब तक की गई कार्रवाईयों की रिपोर्ट तैयार करने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने नगर मजिस्ट्रेट को ओवरलोडिंग वाले वाहनों का पूरा विवरण ए.आर.टी.ओ. से लेकर उनके खिलाफ की गई कार्रवाईयों का पूरा ब्यौरा भी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। जनपद में प्राइवेट वाहनों पर लगे हूटर एवं नीली बत्ती का मामला संज्ञान में आने पर जिलाधिकारी ने उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए। साथ ही ऐसे सभी संदिग्ध गाड़ियां, जिनमें काले शीशे लगे हो, नंबर प्लेटों पर अनावश्यक चीजें प्रदर्शित हो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने यातायात प्रभारी एवं ए.आर.टी.ओ. को कम उम्र के लड़के ई-रिक्शा का संचालन न करने पाए, इसकी भी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग यातायात प्रभारी एवं पुलिस विभाग को जांच टीमों की संख्या बढ़ाने के साथ ही अधिक सक्रियता दिखाते हुए अवैध वाहनों एवं चालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
बैठक के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन,नगर मजिस्ट्रेट नीतीश कुमार सिंह, एआरटीओ कहकसा खातून एवं रमेश श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी जितेंद्र कुमार सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार सिंह सहित अन्य सभी अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?